• support@asccology.com
  •  +91 7390002000
September 10th, 2021 Blog

लक्ष्मी पूजन

धन की चाहत हर किसी के मन होता है लेकिन धन की देवी लक्ष्मी का आर्शीवाद सभी को प्राप्त नहीं होता है. शास्त्रों में लक्ष्मी को चंचला कहा गया है. चंचला का मतलब है ऐसी देवी जिनका किसी एक स्थान पर अधि‍क समय तक रहना तय नहीं. हिंदू मान्यता के अनुसार शुक्रवार को लक्ष्मी का पूजन करने से मां लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं और घर में धन की वर्षा होती है

हिंदू धर्म में शुक्रवार को मां लक्ष्मी का दिन माना जाता है, कहते हैं इस दिन लक्ष्मी पूजन से धन की प्राप्ति होती है, ऐसे में अगर आपके घर भी मां लक्ष्मी नहीं टिक रही हैं तो शुक्रवार के दि न मां लक्ष्मी का पूजन करें साथ ही इस दिन व्रत भी रखें. लक्ष्मी मां को धन की देवी कहा जाता है, इसलिए लोग इनकी पूजा करते हैं. ऐसे में कई उपाय,पूजन,आराधना और मंत्र जाप है जिनकी मदद से आप माता लक्ष्मी को खुश कर सकते हैं

भगवान विष्णु की पत्नी हैं लक्ष्मी जी

Untitled 1 blog

पुरुषोत्तम मास यानि अधिक मास में भगवान विष्णु की पूजा का विशेष महत्व बताया गया है. लक्ष्मी जी भगवान विष्णु की पत्नी है. इसलिए लक्ष्मी जी की पूजा से भगवान विष्णु भी प्रसन्न होते है और अपने भक्तों को आर्शीवाद प्रदान करते हैं. पौराणिक मान्यता के अनुसार लक्ष्मी जी भृगु और ख्वाती की पुत्री हैं और ये स्वर्ग में निवास करती हैं. लक्ष्मी जी का आसन कमल है, इसलिए लक्ष्मी पूजन में कमल के पुष्प का विशेष बताया गया है. लक्ष्मी जी का वाहन उल्लू है.

कैसे करें मां की पूजा
माता लक्ष्मी की पूजा शाम के वक्ति होती है, ऐसे में जब भी आप इनकी पूजा करें तो शाम का समय ही चुनें. शुक्रवार को स्नान करने के बाद मां लक्ष्मी कू पूजा करें. पूजा से पहले ही जहां आप लक्ष्मी जी की पूजा करेंगे उसे साफ करके शुद्ध कर लें, इसके बाद पूजा शुरु करें. पूजा में माता को गुलाबी रंग के फूल अर्पित करें ऐसा करना शुभ माना जाता है. इसके साथ ही इत्र भी चढ़ाएं!

माता को लगाएं भोग

लक्ष्मी पूजन से पहले ही आप घर पर अच्छे तरीके से कुछ मीठा बनवा लें, सबसे अच्छा है मां को खीर और हलवे का भोग लगाएं उन्हें मीठा बहुत पंसद है. अगर आप ऐसा नहीं कर पा रहे हैं तो उन्हें मीठाई का भोग लगाएं. इसके बाद लक्ष्मी जी की आरती करें, इस दौरान सभी घऱ वाले मौजूद होने चाहिए. ऐसा करने से माता खुश रहेंगी और आपके घर पर अपनी कृपा बनाए रखेंगी

लक्ष्मी जी को इस मंत्र से करें प्रसन्न

पूजा के दौरान इस मंत्र का 108 बार जाप करें. इस मंत्र से लक्ष्मी जी प्रसन्न होती हैं और अपना आर्शीवाद प्रदान करती हैं.

ॐ अपवित्र: पवित्रो वा सर्वावस्थां गतोपि वा।
य: स्मरेत् पुण्डरीकाक्षं स: वाह्याभंतर: शुचि: ।।

मुख्य विधि-विधान-

मान्यता है कि शुक्रवार के दिन अगर विधि-विधान से मां लक्ष्मी की पूजा की जाए तो घर में शांति बनी रहती है। साथ ही वह भक्‍तों से प्रसन्न होती हैं और उन पर धन की वर्षा करती हैं। 

1.शाम को मुख्यद्वार पर दीपक जलाएं

लक्ष्मी जी की पूजा शाम को भी करें. शाम के समय घर के मुख्य दरवाजे पर घी का दीपक जलाएं. ऐसा करना शुभ माना जाता है. इससे घर की नकारात्मक ऊर्जा का भी नाश होता है.

2. शुक्रवार को मां लक्ष्मी की पूजा शाम के समय करना सर्वोतम माना जाता है. ऐसा करने से घर में सुख-समृद्धि आती है, कलह-क्लेश नहीं होता और नकारात्मक ऊर्जा भी घर से दूर हो जाती है. यदि आप भी धन से जुड़ी परेशानियों का सामना कर रहे हैं तो शुक्रवार को जरूर करें लक्ष्मी जी की पूजा. साथ ही घर के अंदर भी कुछ बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए। 

3. मन में लाएं ऐसे विचार
शुक्रवार के दिन किसी के प्रति मन में गलत विचार नहीं लाना चाहिए। चोरी, लड़ाई या फिर किसी प्रकार की बेईमानी अगर आपके मन में आ जाए तो इसे अपवित्रता माना जाता है और जहां ऐसे गलत विचार मन में लाए जाते हैं, उस घर से देवी लक्ष्‍मी अप्रसन्‍न रहती हैं।

4.साफ-सफाई में रखें ध्‍यान
लक्ष्मी जी सफाई प्रिय हैं। जहां भी गंदगी होती है, स्वच्छता का ध्यान नहीं रखा जाता, वहां पर लक्ष्मी जी कभी नहीं जाती हैं। इसलिए अपने घर और ऑफिस में साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखें। लक्ष्मी जी आपकी पूजा से तभी प्रसन्न होंगी जब आप सफाई का ध्यान रखेंगे। 

5.आर्थिक तरक्की के लिए खराब इलेक्ट्रॉनिक सामान रखें 
आर्थिक तरक्की के लिए घर में खराब इलेक्ट्रॉनिक सामान न रखें। साथ ही नल का पानी खुला न छोड़ें. अगर नल से पानी बहने की समस्या हो तो उसे तुरंत ठीक करायें। 

6.घर के दरवाजों में डालें तेल 
घर में जितने दरवाजें हों, उनमें तेल डालते रहें। ध्यान रहे कि कोई दरवाजा खोलते समय आवाज न हो। ऐसा करने से दरवाजे से लक्ष्मी का प्रवेश होता है। अगर दरवाजे से आवाज आए तो लक्ष्मी जी का प्रवेश नहीं होता। 

7.नारी का न करें अपमान 
ऋग्‍वेद में इस बारे में बताया गया है कि जिस घर में नारी का सम्‍मान नहीं होता, उस घर में मां लक्ष्‍मी कभी वास नहीं करती। महिलाओं को घर की लक्ष्‍मी माना जाता है इसलिए उनके प्रति प्रेम और सम्‍मान की भावना रखना सबसे जरूरी होता है। जिस घर मे महिलाओं का सम्‍मान होता है, उस घर में देवी देवता भी बेहद प्रसन्‍न रहते हैं।

Consult expert Astrologers: Click here to consult now!

apple 1 blog
google 2 blog

all comments

Leave A Comment